_ Hindustan Shipyard Limited, A Govt. of India Undertaking-Ministry of Defence

पनडुब्बी प्रभाग

परिचय

इसके शुरू होने के 56 वर्षों बाद यार्ड में, 1997 में अपने प्रदर्शनों की सूची में एक और इकाई शामिल थी, जैसे पनडुब्बी की रिफिट प्रभाग को पनडुब्बियों यानी भारतीय नौसेना की फॉक्सट्रॉट क्‍लास, जो पहले पूर्वी समुद्र बोर्ड पर पहले था विशाखापत्तनम में नौसेना गोदी के क्षेत्र रीफिट प्रभाग के निर्माण ने शीत युद्ध के अंत के बाद आत्मनिर्भरता के कारण को आगे बढ़ाने के लिए एक नया "रणनीतिक व्यवसाय इकाई" के रूप में एक अभिव्यक्ति को जोड़ा था।
 
रीफिट प्रभाग  ने 1997 से 2005 तक आईएनएस वाघली की पहली एमआर शुरू किया, जो महत्वपूर्ण और सामरिक राष्ट्रीय संपत्ति के एमएफएल को बढ़ाने के लिए वैकल्पिक यार्ड के प्रावधान में सुनिश्चित किया गया।
 
यार्ड की वाघली  के पुनर्भरण के लिए विशेषज्ञता हासिल करने की अपनी पहचान स्थापित करने के बाद यार्ड को पनडुब्बियों की पहली ईकेएम श्रेणी अर्थात आईएनएस सिंधुकीर्ति  2006 में एमआर का सौदा करने के लिए करार दिया गया था। अनुपस्थित एमआर हालांकि विस्तारित अवधि के कारण, यार्ड के नियंत्रण से बाहर के कारणों के लिए, एक नई पनडुब्बी के कमीशन परीक्षणों के दौरान हासिल किए गए मानकों की पूर्ति में निहित है। यह विकास नए और अतिरिक्त चुनौतियों के साथ प्रदान होने वाले उम्र के यार्ड का सच्चा व्यक्तित्व है।
 
एचएसएल ने आवश्यक विशेषज्ञता, क्षमताओं और कुशल सेट को प्राप्‍त किया  है और भारतीय मूल के नौसेना के ईकेएम कक्षा की पनडुब्बियों के रिफिट के लिए अनिवार्य रूप से आवश्यक विशेष बुनियादी सुविधाओं / सुविधाओं और तकनीकी दस्तावेज विकसित किए हैं। यह एकमात्र शिपयार्ड है जिसमें 'बिल्डिंग डॉक' कवर किया गया है जहां दो ईकेएम पनडुब्बियों का रिफैक्ट एक साथ किया जा सकता है। यह ईकेएम पनडुब्बियों के पुनर्निर्माण के लिए किसी विदेशी शिपयार्ड पर निर्भरता को हटाने के लिए किया गया है।
 
विशाखापट्टणम में पारिस्थिति की तंत्र में उपलब्ध यार्ड में विकसित और तकनीकी सहायता की सीमा के बढ़ते हुए विशेषज्ञता का संज्ञान लेना, यार्ड को तैरकर डेलिवरी वेसल्‍स  (एसडीवी) के साथ एकीकृत करने के लिए दो विशेष ऑपरेटिंग वेसल्स (एसओवी) के निर्माण के लिए नामित किया गया है। आईएनएस सिंधुवीर के एनआर के निष्पादन के लिए संभावित नामांकन से 14 जनवरी 17 को दो साल की अवधि के लिए और अन्य ईकेएम कक्षा पनडुब्बियों के एमआरएलसी शुरू होने के लिए।
 
यह कहना  नहीं चाहिए कि, यार्ड ने  ईजिपशियन के  दो नौसेना पनडुब्बियों की मरम्मत, जैसे एस 22 और 23 के साथ-साथ बीआरओ, मार्च 1972 में विशाखापट्टणम में मरम्मत की थी, जो कि संयोगवश प्रतिस्‍थापन प्रभाग की यात्रा की शुरुआत के लिए पूर्ववर्ती रही है । 
पनडुब्बियों के निर्माण के अलावा मरम्मत / प्रतिस्‍थापन ना दोनों के लिए किए गए विकास और मरम्मत के साथ तालमेल रखते हुए, रिट्रोफिट डिवीजन को 16 मार्च को पनडुब्बी डिवीजन के रूप में पुनः नामित किया गया था।
 
उपलब्धियां – सिंधुकीर्ति का एमआर
 
यार्ड ने आईएनएस सिंधुकर्ती के मध्यम रिफिट-कम-अपग्रेडेशन को सफलतापूर्वक पूरा किया है और नौसेना को 26 जून 15 को कार्य के लिए सौंप दिया गया था। एचएसएल गुंजाइश के तहत सभी हार्बर स्वीकृति परीक्षण (एचएटी) पूरा हो चुके थे और यह कहना है कि पनडुब्बी ने पूर्ण पावर ट्रायल्स के दौरान 350 आरपीएम हासिल किए थे यार्ड द्वारा किए गए गुणवत्ता कार्य के प्रमाण हैं।
 
यह कहना आवश्‍यक है कि इस परिमाण का एक रीफिट  भारत में पहली बार किया गया है, जहां प्रमुख उपकरण अर्थात सोनार यूएसएचयूएस, एसी प्‍लांट को बदल दिया गया था और टॉरपीडो ट्यूबों को आधुनिकीकरण किया गया है ताकि उन्नयन के अलावा मिसाइलों को नष्ट किया जा सके। नौसेनात्मक परिसर (अपैसिओनेट) और फायर कंट्रोल सिस्टम (एआईसीएस ईकेएम -1) का इसके अतिरिक्त, रिफिट में एमएलसी के नवीकरण और स्थानीय केबल के बारे में 78 किलोमीटर और हाइड्रोलिक और एचपी एयर सिस्टम के 3500 स्पूल शामिल हैं।
 
उल्लेखनीय है कि एचएसएल की निम्नलिखित उपलब्धियां आईएनएस सिंधुकीर्ति  के एमआर के संबंध में नौसेना की संतुष्टि के लिए काफी सहायक हैं :
  • रिकार्ड समय में सभी प्रणालियों / उपकरणों के एचएटी को पूरा किया गया। (पोस्ट अंडॉकिंग)
  • 9 वर्ष के बाद किसी भी समस्या के बिना, सफल एमएआर, सफल उच्च गुणता वाले काम के संकेतक। 
  • पूर्ण पावर ट्रायल्स (एफपीटी) के दौरान 350 आरपीएम करने वाली पनडुब्बी, जो पूर्व में किसी भी पूर्ववाही पनडुब्बी से हासिल नहीं की गई थी।
  • पहले प्रयास में ही “'चेक डाइव”  और 'डीप डाइव' को पूरा किया गया। 
  • कोई गारंटी दावा नहीं - यह यार्ड की कारीगरी और उच्च गुणता वाले मानक का प्रमाण है कि गारंटी अवधि (01 जून 15 - 31 मई 15) के दौरान नौसेना द्वारा एक भी दावा नहीं उठाया गया है।
विशेष ऑपरेटिंग वेसल्स (एसओवी)
 
भारतीय नौसेना के लिए दो एसओवी के निर्माण के लिए यार्ड को अपनी सामरिक  आवश्यकताएं पूरी करने के लिए नामित किया गया है। ऑफर के पत्र की प्राप्ति पर इन पोतों का  निर्माण में हिस्सेदार होने के लिए सहयोगी को स्थापित करने के मामले में इस मामले की प्रगति की जाएगी। इस सहस्त्राब्दी के अगले दशक में पोतों को भारतीय नौसेना के लिए वितरित होने की संभावना है।
 
भावी दृश्‍य
 
भारतीय नौसेना के साथ, आई.एन.एस.सिंधुवीर का सामान्‍य रीफिट का कार्य पूरा होने की अंतिम स्थिति में है जो संविदा में लिखा गया। रीफिट का कार्य 01 जुलाई,17 को आरंभ किया जाएगा।  गुणता एवं समय पर पूरा करने के लिए शिपयार्ड पहले दिन से ही रीफिट का कार्य शुरू करने के लिए तैयार है।
 
इनफ्रास्‍ट्रक्‍चर:
 
पाइप फिटिंग शॉप: निम्नलिखित प्रकार की मशीनों / उपकरणों से एक समर्पित पाइप शॉप निर्मित, हीट ट्रीटमेंट, फ्लशिंग और उच्च दबाव परीक्षणों के लिए बनाई गई है जो सभी प्रकार की फेर्रस एवं नॉन फेर्रस सामग्री से बना है।
 
• सीएनसी नियंत्रित, हाइड्रोलिक रूप से संचालित 3-एैक्सिस पाइप बेंडिंग मशीन •
• पोर्टेबल पाइप  बेंडिंग मशीन 
• सीएनसी प्लास्‍मा प्रोफाइल कटिंग मशीन को नियंत्रित करती है
• पाइप बेवेलिंग मशीन
• उच्च गति पाइप कटिंग मशीन
• फ्लांज फेसिंग मशीन
• पोर्टेबल पाइप एंड विस्तार मशीन
• पाइप्स के हीट ट्रीटमेंट के लिए इलेक्ट्रिक फर्नेस
• उच्च दबाव (600 बार) पाइप परीक्षण खाड़ी
• पाइप फ्लशिंग बे
• स्वच्छ और वातानुकूलित टाइटेनियम और स्टेनलेस स्टील वेल्डिंग बे
 
रासायनिक क्‍लीनिंग बे:  रासायनिक क्‍लीनिंग, सरुफेस की तैयारी और फेरस और गैर- फेरस पाइप की पेंटिंग के लिए, 'रासायनिक सफाई बे बनाया गया है। रासायनिक क्‍लीनिंग बे के लिए निम्न सुविधाएं हैं:
 
• हीटर सुविधा के साथ अल्कलाइन टैंक
• पाइप पिकलिंग के लिए एसिड टैंक
• हीटर सुविधा के साथ गर्म पानी टैंक की सफाई 
• गरम पानी जनरित प्‍लांट 
• एचपी एयर सिलिन्डरों के लिए फास्फेटिंग टैंक
•  गर्म पानी उत्पन्न संयंत्र
•  शॉट ब्लास्टिंग और धूल संग्रह के लिए सुविधा
•  गर्म हवा की सुविधा के साथ उच्च दबाव जल जेट सफाई स्टेशन
•  पाइप स्क्रबिंग यूनिट
•  अपशिष्ट जल उपचार संयंत्र
•  सॉल्ट एक्सट्रैक्शन सिस्टम के साथ पेंट बूथ
•  पाइप होल्डिंग और पाइपिंग हैंडलिंग मशीनें
 
बिजली एवं युद्धपोत कार्यशाला: बिजली एवं युद्धपोत कंसोल के केबल्स, टांका लगाने और जोडने की तैयारी के लिए एक विशेष कार्यशाला बनाई गई है। कार्यशाला में निम्न सुविधाएं हैं :
 
•   केबल कटिंग मशीन
•   केबल स्ट्रिपिंग यूनिट
•   टिनिंग और क्रीपिंग मशीन 
•   तापमान नियंत्रित टांका और डीसोलडरिंग स्टेशन
•  मल्टी पिन कनेक्टर्स की तैयारी के लिए विशेष उपकरण
•  उपकरण ग्राइंडर के साथ उत्कीर्ण मशीनें
•  केबल होल्डिंग यूनिट
•  अल्ट्रा ध्वनि सफाई मशीन
•  फ्यूम एक्सट्रैक्शन यूनिट
•  स्वचालित आई वॉशर