• आप यहाँ हैं :
  • पेमेंट गेटवे के लिए अस्वीकरण

पेमेंट गेटवे के लिए अस्वीकरण

पेमेंट गेटवे के लिए अस्वीकरण

हिन्‍दुस्‍तान शिपयार्ड लिमिटेड (एचएसएल), सरकार भारत का एक रक्षा उपक्रम है जो  भारतीय और विदेशी विक्रेताओं के लिए ओपन/ग्लोबल/सार्वजनिक निविदाओं सहित निविदाएं जारी करके निर्माण के तहत विभिन्न परियोजनाओं के लिए अपेक्षित विविध सामग्रियों और सेवाओं की प्रक्रिया कार्यों का करती है।

पक्ष विक्रेताओं को निविदाएं जमा करने के समय बयाना जमा राशि (ईएमडी) और निविदा शुल्क का भुगतान करना आवश्यक है। ईएमडी और निविदा शुल्क का भुगतान उनके प्रस्तावों को विचार करने के लिए पूर्व-आवश्यकताएं के रूप में अनिवार्य है।  (विक्रेताओं को छूट प्राप्‍त श्रेणी छोड़कर)

एचएसएल ने बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई), को प्राधिकृत किया है, उनकी ओर से  ईएमडी और निविदा शुल्क जमा करने के लिए और एचएसएल के निर्देशों के अनुसार ईएमडी की वापसी व्‍यवस्‍था के लिए और पेयमेंट गेट-वे प्रदाता मैसर्स बिल डेस्क के माध्‍यम से बीओई सेवाएं प्रदान करता है बीओई अपनी सेवा राशिा को बिडरों से वसूल करेगी।

उपरोक्त कार्यों को निर्दिष्ट करते हुए एचएसएल ने दिनांक 04 जुलाई 2017 को बीओआई के साथ एक समझौता ज्ञापन दर्ज किया है।

एचएसएल की जिम्मेदारी यह है कि ईएमडी और निविदा शुल्क राशि एवं निर्दिष्ट करने वाले निविदाएं जारी करना और इसके परिणामस्वरूप ठेके देने पर इन मामलों में न तो बीओआई, और बिल डेस्क का कोई संबंध नहीं है।

एमओयू के अनुसार बीओई और बिल डेस्क अपनी सेवा प्रदान करते हैं। उनकी जिम्मेदारी केवल एमओयू/ईएमडी और निविदा शुल्क का संग्रह और एचएसएल के निर्देशों के आधार पर ईएमडी के रिफंड में निर्दिष्ट कार्यों के लिए सीमित है।

हमारे धनवापसी / रद्द करने संबंधी नियम निविदा विशिष्ट होंगे।